Type to search

टमाटर के जूस के फायदे तथा स्किन और चेहरे के लिए टमाटर के गुण

maxunify August 5, 2018
Share

टमाटर का उपयोग सब्जी के रूप में बहुत अधिक किया जाता है, लेकिन अपने पौष्टिक गुणों के कारण अब टमाटरों की गणना फलों में की जाने लगी है। क्योकि विशेषज्ञों के अनुसार टमाटर में सेब और संतरे से भी अधिक पौष्टिक गुणकारी तत्त्व होते हैं इसलिए रोज दिन में दो बार टमाटर के जूस पीने से लाभ मिलता है। इससे हमारे शरीर में बहुत से पौष्टिक तत्व की पूर्ति हो जाती है। टमाटर को सलाद के रूप में खाने से या टमाटर का जूस (सूप) पिने से अधिक लाभ होता है, सूप बनाने के लिए इसे उबाला जाता है जससे इसके कुछ पौष्टिक विटामिन खत्म हो जाते है।

प्रत्येक साल में दो बार टमाटर के पौधों पर फलों की उत्पत्ति होती है इन पौधों पर हरे रंग के छोटे-छोटे टमाटर लगते हैं, जो पकने पर लाल रंग के होते हैं। टमाटर, पोदीना, हरा धनिया व दूसरे मसाले मिलाकर टमाटर की स्वादिष्ट चटनी बनाई जाती है। इस चटनी को खाने से अरुचि ठीक होती है और पाचन क्रिया तेज होने से भूख अधिक लगती है | टमाटर के जूस को पीने से रक्त और पित्त के अनेक परेशानियां ठीक होती हैं और खून की तेजी से वृद्धि होने के कारण एनीमिया रोग ठीक होता है। गर्भावस्था में स्त्रियों को टमाटर के जूस से पौष्टिक शक्ति मिलती है। मन मिचलाने की समस्या ठीक होती है। टमाटर का जूस शरीर में शक्ति बढ़ाने के साथ ही शारीरिक सौंदर्य को विकसित करता है। टमाटर में विटामिन ‘सी’ अधिक मात्रा में होने से स्कर्वी रोग में बहुत लाभ पहुंचाता है। प्रतिदिन टमाटर के जूस को पीने से त्वचा के रोग ठीक होते हैं चेहरे पर ग्लो (चमक) आती है।

टमाटर के जूस पीने के फायदे

  • खून की कमी वाले  रोगी को प्रतिदिन सुबह-शाम टमाटर का जूस का जरूर पीना करना चाहिए।
  • टमाटर का सूप प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से आँखों का रतौंधी (Night blind)  रोग शीघ्रता से ठीक होता है।
  • टमाटर के सूप  में शहद और पानी मिलाकर कुछ सप्ताह तक निरंतर सेवन करने से रक्त-पित्त (Blood bile) की बीमारी ठीक होती है।
  • टमाटर के सूप में सेंधा नमक (वर्त वाला नमक)  और सौंठ का चूर्ण मिलाकर खाने से मंदाग्नि (बदहजमी ) की बीमारी ठीक होती है।
  • टमाटर के जूस का शक्तिवर्द्धक टॉनिक – सुबह नाश्ते में एक गिलास टमाटर के सूप  में थोड़ा शहद मिलाकर पीने से चेहरा टमाटर की तरह लाल निकल आयेगा। यह पेट भी साफ रखता है। रक्तचाप को घटाता है। और दिमाग तेज करता है याददाश्त बढाता है । सूप के बाद के कुछ समय तक खुश न खाये जिससे शरीर द्वारा  अच्छी तरह से सोख लिया जाए।
  • टमाटर के जूस में अदरक और नींबू का जूस मिलाकर, थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर पीने से खाने के प्रति अरुचि ठीक होती है, भूख अधिक लगती है और पाचन क्रिया भी तेज़ होती है।
  • टमाटर के जूस में काली मिर्च और इलायची के दानों का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से मन  घबराना जी मिचलाना में आराम मिलता है।
  • गर्भावस्था में  स्त्रियों द्वारा पौष्टिक आहार न लेने के कारण शारीरिक रूप से कमजोर हो जाती है जिससे उन्हें थकान सिर में  दर्द इत्यादि की शिकायत रहती है।  ऐसी स्थिति में टमाटरों का सूप  दिन में दो-तीन बार पिने से शारीरिक शक्ति विकसित होती है। गर्भावस्था में आयरन की कमी पूरी होती है, क्योंकि टमाटरों से प्राकृतिक आयरन मिलता है, जिसका पाचन भी आसानी से होता है।
  • टमाटर के 50 ग्राम जूस में शहद और पानी मिलाकर दिन में दो बार पीने से नाक से रक्तस्राव (Bleeding) की बीमारी ठीक होती है।
  • 100 ग्राम टमाटर के जूस में काली मिर्च और सेंधा नमक मिलाकर बच्चों को पिलाने से आंत्रकृमि(Enthelmintha) नष्ट होते हैं।
  • टमाटर के जूस में थोड़ा-सा नारियल का तेल मिलाकर मालिश करके नहाने से खुजली ठीक होती है। किन्तु मालिश के पश्चात्  हल्के गर्म पानी से नहाना चाहिए। जिससे शरीर की हलकी हलकी सिकाई हो जाये।
  • टमाटर के सूप में काली मिर्च डालकर नियमित पीने से कब्ज की बीमारी दूर होती है। जिससे चेहरे पर चमक और शरीर में चुस्ती बरकरार रहती है।
  • टमाटर के जूस में दूषित रक्त को साफ़ करने के गुण भी होते हैं |
  • गर्मी से बचाव  सुबह के समय टमाटर के जूस को पीने से गर्मी में ठंडक मिलती है। गर्मी से जी नहीं घबराता। एंटीऑक्सीडेंट चीजें खाने से कई रोगों से बचाव होता है। टमाटर, गाजर में एण्टी-ऑक्सीडेण्ट्स पाये जाते हैं।
  • यदि आप एक कप लाल टमाटर के जूस में एक चम्मच चीनी मिलाकर नित्य बालों की जड़ों में लगाकर पन्द्रह मिनट बाद सिर धोयें तो एक सप्ताह में डैंड्रफ/ रूसी की परेशानी से दूर हो जाओगे।
  • खाँसीकफ (बलगम) – कफ(बलगम) गला और फेफड़ों में जम जाता है। घर्र-घर्र की आवाज साँस के साथ निकलती है। टमाटर का सूप पिसी हुई कालीमिर्च या लालमिर्च डालकर बनाकर गर्मा-गर्म चार बार रोजाना पीने से लाभ होता है। टमाटर का सूप कफनाशक होता है।
  • जुकामखाँसी तीन लोंग, जरा-सी अदरक डालकर टमाटर का सूप बनाकर गर्मा-गर्म हर रोज दिन में तीन बार पीने से खाँसी, जुकाम ठीक हो जाती है।
  • टमाटर, अदरक का गर्म सूप रोजाना दो बार पियें जुकाम (बलगम) से राहत मिलेगी ।
  • सूखा रोग : बच्चे को कच्चे लाल टमाटर का सूप  चार बार रोजाना एक महीने तक पिलाने से बच्चा हट्टा-कट्टा हो जाता है। इसके अतिरिक्त शरीर का मोटापा, पेट के रोग, पीलिया रोगों में भी टमाटर लाभदायक है।
  • स्तनपान(बच्चे को दूध पिलाने वाली माँ ) कराने वाली स्त्रियाँ टमाटर खाएं और शिशु को टमाटर का सूप  प्रतिदिन पिलाएं। इससे शिशुओं का शारीरिक विकास अच्छा होता है, पाचन शक्ति बढ़ती हैं।
  • पीलिया के रोगियों को टमाटर के जूस को रोजाना एक गिलास पीने से लाभ मिलता है।

टमाटर के फायदे स्किन के लिए

  • टमाटर त्वचा के लिए भी फायदेमंद है, यह त्वचा के रोम छिद्रों को कम करता है और चेहरे की झुर्रियां कम करता है. यह अल्ट्रावायलेट(Ultraviolet) रेज़ से त्वचा को बचाता है, जो त्वचा पर लाइनों और झुर्रियों का एक प्रमुख कारण होता है |
  • टमाटर के फायदे चेहरे पर :- टमाटर का सूप  त्वचा के लिए बहुत लाभकारी हैं। इसका सूप मुहांसों से बचाता है। सीबम से मुक्ति दिलाता है। टमाटर में  पाए जाने वाले  विटामिन्स त्वचा में  गन्दगी हटा कर मुहांसों की समस्या को कम करते हैं। यह तैलीय त्वचा पर प्रभावी रूप से कार्य करता है। टमाटर के जूस को निचोड़कर खीरे के जूस के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाएं। कुछ समय  बाद धो लें। रोम छिद्र जल्दी कम करने के लिए टमाटर जल्दी असर करता है। चेहरे पर अगर झुर्रियां पड़ गई हों तो उस पर टमाटर के जूस को रुई की सहायता से चेहरे पर लगाएं।
  • आंखों के नीचे काले धब्बे बन जाने पर टमाटर और गाजर का जूस मिलाकर धीरे-धीरे उंगलियों से मलने से त्वचा में बहुत निखार आता है और काले धब्बे तेजी से गायब हो जाते हैं।
  • सुखी (dry ) स्किन के लिए टमाटर के जूस में नींबू का रस और ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर मलने से त्वचा की शुष्कता ठीक होती है और त्वचा कोमल और स्निग्ध बनती है।
  • टमाटर में त्वचा के लिए फायदेमंद विटामिन, साइट्रिक एसिड, खनिज, आदि बहुत बड़ी मात्रा में होते हैं के कारण टमाटर एक प्रकार का सौंदर्यवर्धक है जिसे इन उपायों की सहायता  से सौंदर्य में निखार लाया जा सकता है।
  • टमाटर के सूप में काली मिर्च का पाउडर और सेंधा नमक मिलाकर रोजाना  पिने  करने से शारीरिक सौंदर्य विकसित होता है और शरीर में स्फूर्ति (Enthusiasm) आती है।
  • चेहरे के काले दाग धब्बेझाँड़याँ व मुँहासे टमाटर का जूस 100 ग्राम, गाजर का जूस 100 ग्राम, पालक का जूस 100 ग्राम, शहद 50 ग्राम या आवश्यकतानुसार, सभी को मिलाकर सुबह के समय  खाली पेट हर रोज पीने से त्वचा के दाग-धब्बे, मुँहासे, झाँइयाँ आदि दूर होकर चेहरे की त्वचा साफ़ हो जाती है | लाल टमाटर काट कर, पिसी हल्दी बुरककर नित्य तीन बार चेहरे पर लगाए। 15 मिनट बाद धोयें यह स्वस्थ त्वचा पाने के लिए अच्छा उपाय है |

माटर के जूस का सेवन जरुर करें पर कुछ सावधानियां भी रखे

  • टमाटर अत्यधिक लाभकारी होने के कारण यह अत्यधिक खाने से  नुकसान दायक भी  हैं।  माटर ही क्या सभी चीज की अति खराब होती है।
  • आंखों के नीचे काले धब्बे बन जाने पर टमाटर और गाजर का जूस मिलाकर धीरे-धीरे उंगलियों से मलने से त्वचा में बहुत निखार आता है और काले धब्बे गायब हो जाते हैं।
  • सुखी (dry ) स्किन के लिए टमाटर के जूस में नींबू का रस और ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर मलने से त्वचा की शुष्कता ठीक होती है और त्वचा कोमल और स्निग्ध बनती है।
  • टमाटर में त्वचा के लिए फायदेमंद विटामिन, साइट्रिक एसिड, खनिज, आदि बहुत बड़ी मात्रा में होते हैं के कारण टमाटर एक प्रकार का सौंदर्यवर्धक है जिसे इन उपायों की सहायता  से सौंदर्य में निखार लाया जा सकता है।
  • टमाटर के सूप में काली मिर्च का पाउडर और सेंधा नमक मिलाकर रोजाना  पिने  करने से शारीरिक सौंदर्य विकसित होता है और शरीर में स्फूर्ति (Enthusiasm) आती है।
  • चेहरे के काले दाग धब्बेझाँड़याँ व मुँहासे टमाटर का जूस 100 ग्राम, गाजर का जूस 100 ग्राम, पालक का जूस 100 ग्राम, शहद 50 ग्राम या आवश्यकतानुसार, सभी को मिलाकर सुबह के समय  खाली पेट हर रोज पीने से त्वचा के दाग-धब्बे, मुँहासे, झाँइयाँ आदि दूर होकर चेहरे की त्वचा साफ़ हो जाती है | लाल टमाटर काट कर, पिसी हल्दी बुरककर लगातार  तीन बार चेहरे पर लगाए। 15 मिनट बाद धोयें यह स्वस्थ त्वचा पाने के लिए अच्छा उपाय है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *